भूल सुधार एवं क्षमा करना

भूल सुधार एवं क्षमा करना
Apology and Forgiveness in Hindi

mafi

यदि हमें यह आभास हो गया कि संस्कार ही इस जीवन धारा के मूल में विराजमान हैं तो हम अपनी जीवन शैली को बदलने का प्रयास कर सकते हैं। जैसे हमारी पुरानी मान्यताओं/अनुभवों/संस्कारों के कारण जिस किसी से भी हमारे संबन्धों में दरार पड़ गई है। उस दरार को भरने का प्रयास कर सकते हैं। जो भी गलतियाँ हमारी गलत सोच के कारण हुई उन्हें सुधार सकते हैं।

हमारी सोच के द्वारा हुए कार्य के फलस्वरूप हमारा भाग्य बन रहा है।

अतः जो कुछ भी हम अपने भाग्य के सुधार के लिए कर सकते हैं, उसके लिए प्रयास आरम्भ कर देने चाहिए। मन में कुंठा के, द्वेष के, घृणा के विचार इत्यादि ऐसे निम्न स्तर के विचार जो परिपक्य होकर हमारी आदत/संस्कार बन गए हैं। जिससे हमारा व्यक्तित्व ही जो होना चाहिए था उसकी बजाए कुछ और ही दिखता है। जैसे ही हम इस निर्णय पर पहुँचे, तो इस जीवन में अब तक हम से जो गलतियाँ/भूल हुई हैं। क्या हमें उनके सुधार के लिए कुछ नहीं करना चाहिए।

हमसे कितनीगलतियाँ/भूल तो जाने-अनजाने में हो ही जाती हैं।

कुछ हमारी पुरानी मान्यतायें, पुराने अनुभव, हमारी आदतों के कारण, हमने किसी का नुकसान या अहित किया है या हुआ है। हमें आगे बढ़कर उन भूलों का प्रायश्चित (apology) करना चाहिए। इसके साथ-साथ किसी दूसरे की गलती को क्षमा (forgive) कर देना चाहिए जिससे हमारे मन में चल रहा द्वंद्व समाप्त हो जाए। इससे एक नई परिपाटी तैयार हो जाएगी और समाज एवं संसार में अधिकांशतः अनजानी भूलों में सुधार की प्रक्रिया आरम्भ होने से हमारा वर्तमान एवं भविष्य दोनों में ही सुधार हो पाएगा। हम अगर आयु में भी सीनियर सिटिजन हो गए हैं तो हम अपने परिवार के अन्य सदस्यों की सोच को भी धीरे-धीरे बदल सकते हैं। यह एक धीमी गति की प्रक्रिया है जो केवल जिज्ञासु पर ही असर कर सकती है।

Also Read : सफलता कैसे! Five Motivational Story in Hindi 


आपको यह essay भूल सुधार एवं क्षमा करना Apology and Forgiveness in Hindi कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई motivational article, story, essay है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • motivational stories in hindi आप मेरी माता हैं

    आप मेरी माता हैं | Maharaja Chhatrasal छत्रसाल (Raja Chhatrasal) बड़े प्रजापालक थे। वे अपनी प्रजा की देखभाल पुत्र के समान करते थे। वे राज्य का दौरा करते और जनता […]

  • आलोचना depression निराशा और अवसाद से बाहर कैसे निकलें?

    निराशा और अवसाद से बाहर कैसे निकलें? How to deal with depression and disappointment? यदि आलोचना (criticism) आपको परेशान करती हैं तब क्या करें? क्या करें जब आपको बात-बात पर […]

  • Mohd rafi in Hindi सुरों के जादूगर-Mohd Rafi

    सुरों के जादूगर-मोहम्मद रफी (Suro Ke Jadugar Mohd Rafi) एक युग का संगीत जो उस महान गायक के साथ सिमट गया वो और कोई नहीं, वे थे हर दिल अज़ीज […]

  • ramayana in ancient china प्राचीन चीनी साहित्य में रामायण (Ramayana in Ancient Chinese Literature)

    प्राचीन चीनी साहित्य में रामायण Ramayana in Ancient Chinese Literature in Hindi प्राचीन चीनी साहित्य में राम कथा पर आधारित कोई मौलिक रचना नहीं हैं। ये रचानाऐं चीन में बौध […]

One thought on “भूल सुधार एवं क्षमा करना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*