व्यक्तिगत विकास

parent mistake

ज्यादा टोका-टाकी बच्चों की बरबादी – parent mistake

क्या आप जानते हैं किसी बच्चे के उज्जवल भविष्य (future) के लिए सबसे बड़ी बाधा क्या होता है? जरा विचार कीजिए। क्या वह माँ-बाप की गरीबी (parent poverty) होती है जिसके कारण बच्चे को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाती या बहुत अमीरी (parent prosperity) होती है जिससे कि बच्चे शुरू से ही भोग-विलास में डूब कर अपना भविष्य (future) बरबाद […]

6 comments
jokar

अपने आपको जोकर न बनायें

आप सबको खुश नहीं रख सकते You cannot make everyone happy मित्रों कभी न कभी तो आप सर्कस गये ही होंगे। वहां लोगों को हंसाने-गुदगुदाने के लिए एक पात्र आता है-जिसे जोकर (joker) कहते हैं। जो अपने चेहरे को अजीब से रंगो और मुखेटे से ढके रहता है। मुझे लगता है जोकर ही वह किरदार है जिसमें हर किसी को […]

2 comments
luck courageous people

किस्मत हिम्मत वालों का साथ देती है

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद दूसरा सपना देखने के हौसले को जिंदगी कहते हैं दोस्तों। अगर आप असफल होंगे तो शायद सिर्फ निराश होंगे लेकिन आप कोशिश हीं नहीं करेंगे, आप गुनाहगार होंगे। याद रखना हिम्मत (Courage) जिनकी रगों में है, जिनके इरादे बुलंद हैं वे ही सफलता का स्वाद चखते हैं। यहां हिम्मत (Courage) से […]

10 comments
ant

जीवन में सफल होने के लिए क्या करें?

जीवन में सफल होने के लिए क्या करें?  How to be successful in life? (Motivational Stories in Hindi) हम सब जीवन में अपने-अपने क्षेत्र में सफल (successful) होना चाहते हैं। सब इसके लिए जी-तोड़ पर प्रयास भी करते हैं। मैंने नीचे लिखी चार बातों का विश्लेषण कर उदाहरण के साथ कहानी के रूप में दी हैं जिसमें बताया गया है कि […]

13 comments
motivation, hardworking, aim, target

आखिर हम बार-बार हारते क्यों है?

आखिर हम बार-बार हारते क्यों है? Why we defeat?  अपने साथ घटित एक घटना को आपके साथ साझी कर रहा हूँ, जिसने मुझे सोचने को मजबूर कर दिया कि hardworking, motivation, aim, target, honesty होने पर भी हम अक्सर असफल क्यों हो जाते हैं और अपने भाग्य को कोसते हैं। मैं अपने बेग की चेन को ठीक कराना चाह रहा […]

37 comments
kadamtal

उम्मीद न छोड़ें! सफलता अवश्य मिलेगी।

Don’t Loose Hope! You will success अमेरिका के राष्ट्रपति कालबिन काॅलिज (Calvin Coolidge, 29th President 1923-29) एक दिन अपने कार्यालय में काम करते-करते थक गये। वे एक आराम कुर्सी पर लेट गए। उन्हें तुरन्त नींद आ गई। बड़े-बड़े अधिकारी और सामान्य नागरिक उनसे मिलने के लिए बाहर खड़े थे। उधर राष्ट्रपति सो रहे थे, उनके सचिव की घबराहट बढ़ती जा […]

28 comments