• लालच imandar balak

    ईमानदारी का फल

    ईमानदारी का फल किसी अमीर के घर में एक दिन सोफासेट ठीक करने के लिए एक कारपेन्टर को बुलाया गया। उसकी उम्र 16 साल के करीब रही होगी। वह कार्य करने लगा। उस समय वह अकेला ही था। उसने सोफा के किनारे पर एक सोने की चेन फंसी हुई देखी। वह चेन को हाथ में उठाकर देखने लगा। चेन को […]

  • चूहा मनोरंजक कहानी

    बुद्धिमान चूहा और मुसीबत में बिल्ला | मनोरंजक कहानी

    बुद्धिमान चूहा और मुसीबत में बिल्ला | मनोरंजक कहानी एक जंगल के किसी पेड़ के नीचे बिल बनाकर एक बुद्धिमान चूहा रहता था। उसी पेड़ पर एक बिल्ला भी रहता था। जंगल में एक बार शिकारी ने डेरा डाल दिया। रोज शाम को वह जाल बिछा कर बड़े आराम से अपनी झोपड़ी में सो जाता था। रात में अनेक जीव […]

  • kachua aur bandar

    कछुआ और बंदर

    कछुआ और बंदर – Moral Story in Hindi Tortoise and Monkey  बंदर (Monkey) और कछुए (Tortoise) की यह मोरल स्टोरी (moral story) अफ्रीका के जनमानस के बीच में बहुत प्रचलित है। कहानी इस प्रकार है कि बंदर चालबाज और शैतान है जिसे जानवरों को तंग करने में मजा आता है। एक शाम उसने देखा कि एक कछुआ धीरे-धीरे अपने घर की […]

  • लघु हिंदी कहानी

    बंदर और मछली | स्वर्ग और नरक Moral stories in Hindi

    बंदर और मछली | स्वर्ग और नरक Moral stories in Hindi छोटी-छोटी कहानियाँ भी हमें बहुत बड़ी सीख दे जाती हैं। नीचे दो लघु हिंदी कहानियाँ (short moral stories) दी गयी हैं – पहली हिन्दी कहानी (Hindi story) बंदर और मछली की है जो कि दोस्तों को लेकर हमें सचेत करती है तथा दूसरी लघु हिंदी कहानी मिलजुल कर रहने में ही भलाई […]

  • tiger and rabbit

    बाघ और खरगोश

    बाघ और खरगोश – Moral Story in Hindi Tiger and Rabbit  यह मोरल स्टोरी बाघ (tiger) और खरगोश (rabbit) की है जिसमें यह बताया गया है कि शांतचित्त मन से विकट से विकट परिस्थिति का भी सफलतापूर्वक सामना किया जा सकता है। मोरल स्टोरी इस प्रकार है कि एक समय की बात है जंगल में एक खरगोश रहता था। वह काफी […]

  • short moral story

    बालक का गुस्सा

    बालक का गुस्सा (Balak Ka Gussa short moral story in Hindi) एक समय की बात है एक छोटा बच्चा (small child) जो बहुत प्रतिभाशाली, तेज दिमाग और रचनात्मक था, उसमें एक बहुत बड़ी कमी थी। वह आत्मकेन्द्रित और बहुत गुस्से (angry) वाला था। जब उसे गुस्सा (anger) आता तो वह किसी की परवाह नहीं करता तथा उल्टा-सीधा (abusive language) बोल […]