होनी को कोई नहीं टाल सकता | Real-life incidence

होनी को कोई नहीं टाल सकता | Real-life incidence

hone ko koi nahi taal sakta

काफी पुरानी  बात है। अप्रैल 89 का समय था , मैं अपने मित्र से मिलने रतलाम गया था। उनके यहाँ उस समय मकान के रिनोवेशन का कार्य चल रहा था। वे स्वयं ही अपनी देख-रेख में मजदूरों को लेकर मकान बनवा रहे थे। निर्माण स्थल पर हमने एक लड़के दीपू को देखा। दीपू जब मिट्टी उठाने आता तो पत्थरों के बीच से एक साँप फन उठाकर उसकी ओर देखता। आश्चर्य तब हुआ जब अन्य मजदूरों के आने पर साँप पत्थरों के बीच छिप जाता था।

ऐसे कई बार देखकर तथा भावी आशंका से काँप कर हमने उस लड़के को घर जाने के लिए कह दिया। वह लड़का घर जाना ही नहीं चाहता था कि कहीं उसकी उस दिन की मजदूरी न मारी जाये। हमने उसे पूरा पैसा देकर वापिस लौटा दिया।

उस लड़के के जाने के बाद मजदूरों को वह साँप फिर दिखाई दिया। उन्होने अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बेलचे से उस सांप के दो टुकड़े कर दिये।

उसी समय आकाश में उड़ती चील ने साँप को देख लिया और वह मुँह वाला हिस्सा उठाकर उड़ गयी। लेकिन होनी बलवान होती है। दैवयोग से घर लौटते हुए उस लड़के के ऊपर साँप का मुँह वाला वह भाग चील से छूट गया। साँप ने उस लड़के को काट लिया। लड़के को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया। बड़ी मुश्किल से उसकी जान बच पायी।

जब इस घटना का वहाँ खड़े सभी मजदूरों को पता चला तो सभी आश्चर्यचकित रह गये तथा एक-सुर में कहने लगे कि ‘होनी होकर ही रहती है।’

सच ही है-होनी को कोई नहीं टाल सकता।

प्रेषक: सुभम पिप्रोत्तर, जामनगर, गुजरात

Also Read : Real life incidence


आपको यह होनी को कोई नहीं टाल सकता  | Real-life incidence  कैसी लगी कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई motivational story, inspirational article, essay है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • जीवन की सार्थकता दूसरों के लिए जीने में है

    जीवन की सार्थकता दूसरों के लिए जीने में है एक बार एक राजा ने राजमार्ग पर एक विशाल पत्थर रखवा दिया। फिर वह छिपकर बैठ गया, यह देखने के लिए कि कोई उसे उठाता है या नहीं। मार्ग में पड़े उस पत्थर उस मार्ग से निकलने वाले, कई धनी सेठों ने, दरबारियों ने भी देखा परन्तु राजमार्ग को बाधारहित करने […]

  • parent mistake ज्यादा टोका-टाकी बच्चों की बरबादी – parent mistake

    क्या आप जानते हैं किसी बच्चे के उज्जवल भविष्य (future) के लिए सबसे बड़ी बाधा क्या होता है? जरा विचार कीजिए। क्या वह माँ-बाप की गरीबी (parent poverty) होती है जिसके कारण बच्चे को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाती या बहुत अमीरी (parent prosperity) होती है जिससे कि बच्चे शुरू से ही भोग-विलास में डूब कर अपना भविष्य (future) बरबाद […]

  • Frank O'Dea hindi सड़कछाप से सफलता का सफर | Frank O’Dea

    सड़कछाप से सफलता का सफर | Frank O’Dea Street Life to High Life हम सबके लिए प्रेरणा के स्रोत Frank O’Dea कनाडा की सबसे बड़ी काॅफी श्रृंखला ‘सेकेंड कप’ के सह-संस्थापक आज एक सफल उद्यमी, मानवतावादी और लेखक हैं। पर वे हमेशा से ऐसे नहीं थे। वे शराब पीने के आदी, गुजारे के लिए राहगीरों से पैसे मांगते तथा आश्रयस्थल में […]

  • जीवक जीवक कौमारभृत्य – Real Father of Medical Science

    जीवक कौमारभृत्य – Real Father of Medical Science बहुत प्राचीन समय की बात है। मगध में उस समय सम्राट बिंबिसार राज करते थे। मगध की राजधानी राजगृह थी। उनके राज्य में सालवती नामक गणिका का निवास था।। एक दिन वह गर्भवती हो गयी। उसने अपनी इस स्थिति को यथासम्भव गोपनीय बनाये रखा। समय आने पर उसने एक पुत्र को जन्म दिया […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*