• ravan kumbharan

    सीता को रिझाने के लिए रावण द्वारा राम का रूपधारण

    सीता को रिझाने के लिए रावण द्वारा राम का रूपधारण – short story of Ravan Kumbhkaran samvad in Hindi राम जी इतने अधिक शुद्ध हैं कि जो राम का स्मरण भर करता है, वह भी शुद्ध हो जाता है। श्रीएकनाथ महाराज की भावार्थ-रामायण में पैंतालीस हजार मराठी पद हैं। उसमें रावण द्वारा राम का रूप धरने से होने वाली स्थिति की […]

  • pisharoty

    पी.आर. पिशोरती | Father of remote sensing in India

    पी.आर. पिशोरती | Father of remote sensing in India पी.आर. पिशोरती (Pisharoth Rama Pisharoty)  का जन्म 10 फरवरी 1909 को कोलेंगोड (केरल) में हुआ था। उनके पिताजी का नाम श्री वी गोपाल वडयार (Gopala Vadhyar)   एवं माता जी का नाम श्रीमती के.पी. पिशारायार (Lakshmi Pisharassiar) था। वे तीन भाई थे। पूरा परिवार बहुत ही धार्मिक प्रवृत्ति का था। माता-पिता मंदिर […]

  • impress

    सच्चे लोग किसी को प्रभावित करने का प्रयास नहीं करते

    सच्चे लोग किसी को प्रभावित करने का प्रयास नहीं करते  Stop Trying to Impress Others धरती एक छोटा गांव होती चली जा रही है। आज प्रगति आसान है, बसर्ते सही दिशा में प्रयास हो। हर व्यक्ति आत्मविश्लेषण और आत्मनिरीक्षण करे। भविष्य के बारे में जीव-जन्तु भी हमारी तरह ही व्यवहार करते हैं। उदाहरणार्थ-कुत्ते को यदि अतिरिक्त मिल जाता है तो […]

  • dadhichi piplad

    दूसरों की अमंगल-कामना न करें

    भगवान भोलेनाथ द्वारा महर्षि दधिचि पुत्र पिप्लाद को सीख : महर्षि दधिचि (Dadhichi) ने देवताओं की रक्षा के उद्देश्य ने अपना शरीर बलिदान कर दिया था। उनकी हड्डियों को लेकर विश्वकर्मा ने वज्र बनाया जिसकी सहायता से इंद्र ने अजेय वृत्रासुर को मारा और स्वर्ग पर पुनः अपना अधिकार प्राप्त किया। दधिचि (Dadhichi) के पुत्र का नाम पिप्लाद था। वे […]