स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के उपाय – Health Tips

स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के उपाय – Health Tips in Hindi

  1. रोज सूर्योदय से पहले उठें।
  2. स्वास्थ्य की रक्षा के लिये जल का महत्वपूर्ण स्थान है। सोकर उठते ही स्वच्छ जल पीना स्वास्थ्य के लिए बड़ा ही हितकारी होता है।
  3. पेशाब-पाखाने को कभी न रोकें। पेट में मल जमा न होने दें।
  4. प्रतिदिन प्रातः स्नान करें।
  5. प्रातः कम-से-कम 10 मिनट घर से बाहर निकल कर भ्रमण करें।
  6. रोज दातून करें।
  7. भोजन के समय जल न पीयें या बहुत कम पीयें।
  8. भूख से अधिक न खायें।
  9. किसी का भी जूठा कभी न खायें और न खिलायें।
  10. भोजन करके हाथ, मुंह, दांत अवश्य धायें।
  11. नशीले पदार्थ जैसे तंबाकू, बीड़ी-सिगरेट, शराब आदि का सेवन कदापि न करें।
  12. दिन में ना सोयें तथा रात में अधिक समय तक न जायें। कम से कम 6 घंटे की नींद अवश्य लें।
  13. दीढ़ी रोज बनायें लेकिन शोक से दिन में दो बार न बनायें।
  14. जो रोगों के कारण दुःखी रहता है, उस पर रोग ज्यादा असर करते हैं। जो संयम से रहता है, प्रसन्न रहता है, उस पर रोग ज्यादा असर नहीं करते। मन की प्रसन्नता से रोग मिट जाते हैं।

सूर्य का प्रकाश 

वेदों में उदित होते हुए सूर्य की किरणों का बहुत महत्व वर्णित किया गया है। अथर्ववेद के एक मंत्र में कहा गया है कि उदित होता हुआ सूर्य मृत्यु के सभी कारणों अर्थात् सभी रोगों को नष्ट करता है। उदित होते हुए सूर्य से इन्फ्रारेड किरणे निकलती हैं। इन लाल किरणों में जीवन शक्ति होती है जिनमें रोगों को नष्ट करने की अद्भुत क्षमता होती है। कुछ समय तक सूर्य का प्रकाश लेना अतिआवश्य है। आजकल की दिनचर्या ऐसी हो गयी है सुबह ही आॅफिस चले जाना और शाम को आफिस से बाहर निकलना अर्थात सूर्य के दर्शन ही नहीं हो पाते। यह प्रवृत्ति health के लिए अतिहानिकारक है। इस समस्या से बचने के लिए लंच समय में आफिस से बाहर निकल कर कुछ समय धूप में टहल सकते हैं।

आहार

शरीर और भोजन का परस्पर घनिष्ठ सम्बन्ध है। अन्न और जल-इन दोनों के सिवाय मनुष्य को किसी और चीज का व्यसन नहीं होना चाहिए। जीवित रहने के लिए अन्न और जल तो लेना ही पड़ता है, पर चाय, काफी, बीड़ी-सिगरेट, तम्बाकू, शराब आदि की आदत न डालें। इनसे पैसा तो खराब होता ही है health का भी नाश हो जाता है।

एक समय ईरान के एक बादशाह ने अपने यहां के एक जाने-माने हकीम से प्रश्न किया कि ‘दिन-रात में मनुष्य को कितना खाना चाहिए?’ उत्तर मिला 400 ग्राम। फिर पूछा ‘इतने से क्या होगा?’ हकीम ने कहा-‘शरीर-पोषण के लिये इससे अधिक नहीं खाना चाहिए। इसके उपरान्त जो कुछ खाया जाता है, वह केवल बोझ ढोना और उम्र खोना है।’ अतः थोड़ा आहार करना health के लिए उपयोगी होता है। आहार उतना ही करना चाहिए, जितना कि आराम से पच सके। रात्रि का भोजन सोने से तीन घंटे पहले करना चाहिए। भोजन के एक घंटे बाद फल या दूध लें।

जल

स्वास्थ्य की रक्षा के लिए जल का महत्वपूर्ण स्थान है। सोकर उठते ही स्वच्छ जल पीना बहुत ही हितकारी होता है। खाने के तुरन्त पहले और तुरन्त बाद जल नहीं पीना चाहिए। एक दिन में कम-से-कम 8 गिलास जल पीना चाहिए।

व्यायाम

शारीरिक व्यायाम हमारे लिये उतना ही आवश्यक है जितना भोजन और पानी। यदि हम healthy, बलवान, चुस्त और फुर्तीला बनना चाहते हैं तो व्यायाम अत्यावश्यक है। किन्तु आज के आधुनिक जीवन में हम इतने आरामपसंद और आलस्ययुक्त हो गये हैं कि कूछ दूर पैदल चलना भी अपनी मान-मर्यादा के प्रतिकूल समझते हैं। इसी आरामपरस्ती के कारण हम सामान्य रोगों के साथ-साथ गंभीर रोगों को आमंत्रित करते हैं। अतः नियमित व्यायाम करने से हम रोगों को अपने पास आने से रोक सकते हैं और कई रोगों तो बिना दवाई के ही ठीक हो जाते हैं।

निद्रा

जिस प्रकार स्वास्थ्य के लिए शुद्ध वायु, जल, सूर्य और भोजन की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार उचित समय की निद्रा भी परम आवश्यक है। रात्री में ठीक समय पर सोने से आलस्य दूर होता है। बल और उत्साह बढ़ता है। सोते समय ढीले कपड़े पहनें। सोने से पहले मन को समस्त शोक, चिन्ता और भय से मुक्त कर देना चाहिए तथा प्रसन्नता, संतोष और धैर्य के साथ सफलता की कामना करनी चाहिए। इससे आप प्रातःकाल अपने में परिवर्तन पायेंगे। सोते समय मुंह ढक कर ना सोयें। बिस्तर बहुत मुलायम नहीं होना चाहिए।.

Also Read : पानी भी एक दवा है – इसके चमत्कार देखें 


आपको यह लेख स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के उपाय – Health Tips in Hindi कैसा लगा, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें। अगर आपके पास विषय से जुडी और कोई जानकारी है तो हमे kadamtaal@gmail.com पर मेल कर सकते है |

आपके पास यदि Hindi में कोई health related article, story है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Email Id है: kadamtaal@gmail.com. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे |

Random Posts

  • anna mani अन्ना मणि | Mahan Mahila Scientist in Hindi

    अन्ना मणि | Mahan Mahila Scientist in Hindi महान भारतीय वैज्ञानिक अन्ना मणि (ANNA MANI) की सफलता की कहानी पुरुषों और महिलाओं (ladies) को बराबर प्रेरित करती है। उनके समय लिंग के आधार पर होने वाले भेदभाव का उन्होने सफलतापूर्वक सामना किया। एक इंटरव्यू में उन्होने बताया था कि कैसे छोटी-छोटी गलतियों पर भी महिलाओं को असक्षम सिद्ध करने का […]

  • gandhi गांधी जी के हनुमान | एक अनसुनी कहानी

    गांधी जी के हनुमान | एक अनसुनी कहानी 1926 के पूरे सालभर Gandhi Ji ने साबरमती और वर्धा-आश्रम में विश्राम किया। उसके बाद वे देश भर में भ्रमण के लिए निकल पड़े जिसका मुख्य उद्देश्य था-खादी चरखा का विस्तार, अस्पृश्यता निवारण, हिंदू मुस्लिम एकता (Hindu Muslim unity) बात सन् 1927 के आरम्भ की है। महाराष्ट्र मे एक दिन उनसे अनुरोध किया […]

  • raja raghu राजा रघु और कौत्स

    राजा रघु और कौत्स Story of Raja Raghu and Kautsya अयोध्या नरेश रघु (Raja Raghu) के पिता का दिलीप और माता का  नाम सुदक्षिणा था। इनके प्रताप एवं न्याय के कारण ही इनके पश्चात इक्ष्वाकुवंश रघुवंश के नाम से प्रख्यात हुआ। महाराज रघु ने समस्त भूखण्ड पर एकछत्र राज्य स्थापित कर विश्वजीत यज्ञ किया। उस यज्ञ में उन्होंने अपनी सम्पूर्ण […]

  • Bharat Ke Mahan Vaigyanik अनिल कुमार गयेन | Bharat Ke Mahan Vaigyanik

    अनिल कुमार गयेन | Bharat Ke Mahan Vaigyanik Our Scientist अनिल कुमार गयेन (Anil Kumar Gain) का जन्म 1 फरवरी 1919 में हुआ था। उनके माता-पिता लक्खी गांव, पूर्वी मिदनापुर के निवासी थे। उनके पिता जी का नाम जिबनकृष्ण और माताजी का नाम पंचमी देवी था। जब वे काफी छोटे थे तभी उनके पिताजी का निधन हो गया। परिवार का […]

One thought on “स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के उपाय – Health Tips

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*