क्या आप कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं?

क्या आप कोई व्यवसाय (business) शुरू करना चाहते हैं?

Business शुरू करना आसान है लेकिन हर कोई customers का मजबूत बेस तैयार नहीं कर पाता। व्यवसाय की सफलता का राज marketing में निहित है। marketing के बिना बिक्री (selling) खत्म हो सकती है और व्यवसाय को बंद करने की नौबत आ सकती है। चलें अब हम marketing की बुनियादी बातों पर नजर डालते हैं।

आखिर marketing होती क्या है?

आपका शहर अथवा आसपास का वह स्थान जहां आप अपनी जरूरत का सामान खरीदते हैं उसे मार्केट कहते हैं तथा मार्केटिंग वह गतिविधि है जो वस्तु अथवा सेवा की जानकारी दे कर लेन देन को बढ़ाती है। मार्केटिंग में आपको विभिन्न रणनीति और तरीके अजमाकर, भावी ग्राहकों को पहचानना, उनको बेहतर प्रोडक्ट अथवा सर्विस देना और उनको बनाये रखना है जिससे कि आप और ग्राहकों के बीच मधुर सम्बन्ध बन सके।

Selling और marketing में क्या फर्क है?

बहुत से लोगों को लगता है कि सेलिंग और मार्केटिंग में कोई अंतर नहीं है। परन्तु वास्तव में ऐसा है नहीं। Selling का मतलब उस उत्पाद या सेवा को बेचना है जो आपके पास है अपितु वह नहीं जो ग्राहक चाहता है। selling का मकसद आपके पास जो वस्तु है उसकी बिक्री को अधिकतम बढ़ाना है।

Marketing में ग्राहक की आवश्यकताओं को ध्यान में रखा जाता है और उसे बिक्री बाद भी समस्या के समाधान का आश्वासन दिया जाता है और उस ग्राहक को एक वफादार ग्राहक में बदला जाता है जिससे उसके सम्पर्क से भी बिक्री बढ़ाई जा सके। इस तरह अधिकतम लाभ बढ़ाने का प्रयास किया जाता है। अतः marketing व्यवसायिक गतिविधि का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है।

आज हम यहां मार्केटिंग योजना (marketing plan) पर चर्चा करते हैं।

Marketing की गतिविधि कैसी होनी चाहिए इसके लिए कम से कम 1 साल से 5 साल तक की योजना बनायें। इसको आप लिखित अथवा अलिखित दोनो रूप में रख सकते हैं। लिखित रहता है तो बेहतर रहेगा।

एक ठेठ छोटे business के marketing plan में आपको अपने प्रतियोगियों की जानकारी, उनके प्रोडक्ट और सेवाओं की मजबूत व कमजोर पक्ष का ज्ञान होना चाहिए जिससे कि आप आजकल के प्रतियोगी व्यवसाय में अपनी बेहतरीन योजना बना कर उतर सकें।

आप अपनी मार्केटिंग योजना में निम्नलिखित पक्ष शामिल कर सकते हैं:-

  • उत्पाद या सेवा तथा आपके द्वारा दी जाने वाली विशेष सुविधाओं का स्पष्ट विवरण
  • मार्केटिंग बजट को ध्यान में रखकर विज्ञापन और प्रचार योजना,
  • व्यवसाय को शुरू करने के स्थान का सर्वे, फायदे और नुकसान सहित
  • वस्तु/सेवा की कीमत आप किस तरह से निर्धारित करेंगे

व्यवसाय या सेवा शुरू करने से पहले आपको निम्न प्रश्नों का उत्तर तलाशना होगा।

  • हम अपने व्यवासाय/सेवा को कैसे बढ़ा सकते हैं?
  • हम मजबूत ब्रांड का निर्माण कैसे कर सकते हैं?
  • हम अपने व्यवसाय/सेवा को कैसे अलग तरह से पेश कर सकते हैं?
  • हम कम लागत और कम कीमत देने वाले प्रतिद्वंद्वियों से कैसे प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं?
  • हम यह कैसे निर्णय लें कि कौन सा ग्राहक हमारे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है?
  • हम उन ग्राहकों को कैसे राजी करें जो प्रतियोगियों के कम कीमत से प्रोडक्ट/सर्विस की तुलना करते है?
  • हम ग्राहक को किस तरह से स्थाई वफादार ग्राहक में बदल सकते हैं?
  • हम अपने साथ जुड़े लोगों से किस तरह बिक्री बढ़ाने में सहायता ले सकते है?
  • हम साथ काम करने वाले सहयोगियों से किस तरह बिक्री/उत्पादकता में सुधार कर सकते है?
  • अगर साथ काम करने वालों में मनभेद या मतभेद होता हैं तो इस स्थिति को कैसे संभालेंगे और सुलझायेंगे?

इन सब सवालों का जवाब तलाश कर आप सही ढंग से योजना बनायें और अपने सपनों को साकार बनाने में जुट जायें जब तक कि सफलता आपके कदम न चूमें।

Also Read : लौरा वार्ड ओंगले success story


आपको यह लेख क्या आप कोई व्यवसाय (business) शुरू करना चाहते हैं?  कैसा लगा, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें। अगर आपके पास विषय से जुडी और कोई जानकारी है तो हमे kadamtaal@gmail.com पर मेल कर सकते है |

आपके पास यदि Hindi में कोई motivational article, story, essay है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Email Id है: kadamtaal@gmail.com. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे.

Random Posts

  • प्यार की चोट प्यार की चोट। Heart touching story

    प्यार की चोट । Heart touching story in Hindi एक शायर ने क्या खूब लिया है “तेरे जहान मे ऐसा नहीं की प्यार न हो, मगर जहाँ हो इसकी उम्मीद वहाँ नही मिलती।”  बात कुछ साल पहले की है। लखनऊ में एक लड़की अपनी मैडिकल नर्सिंग की पढ़ाई खत्म करके किसी अच्छी नौकरी की तलाश में थी। यूँ तो सुधा ने […]

  • raja raghu राजा रघु और कौत्स

    राजा रघु और कौत्स Story of Raja Raghu and Kautsya अयोध्या नरेश रघु (Raja Raghu) के पिता का दिलीप और माता का  नाम सुदक्षिणा था। इनके प्रताप एवं न्याय के कारण ही इनके पश्चात इक्ष्वाकुवंश रघुवंश के नाम से प्रख्यात हुआ। महाराज रघु ने समस्त भूखण्ड पर एकछत्र राज्य स्थापित कर विश्वजीत यज्ञ किया। उस यज्ञ में उन्होंने अपनी सम्पूर्ण […]

  • washerman धोबी की ईमानदारी (Washerman’s Honesty)

    धोबी की ईमानदारी (Washerman’s Honesty) जीवन में कुछ ऐसी घटनायें अक्सर घटित होती हैं जो हमारे दिल कि गहराईयों में पेठ कर जाती हैं। यह छोटी-छोटी घटनायें हमें अनमोल पाठ पढ़ाती हैं। मैं यहां अपने साथ घटित ईमानदारी की एक सच्ची कहानी को आपके सामने ला रहा हूँ जो कि कुछ वर्षों पहले मेरे साथ घटित हुई है।  घटना शुक्रवार […]

  • Hindi story अन्याय का कुफल

    अन्याय का कुफल | Hindi Story on Impact of Injustice यह दो व्यापारी मित्रों की हिंदी स्टोरी (Hindi story) है। एक का नाम था धर्मबुद्धि, दूसरे का दुष्टबुद्धि। वे दोनों एक बार व्यापार करने विदेश गये और वहाँ से दो हजार अशर्फियाँ कमा लाये। अपने नगर में आकर सुरक्षा के लिये उन्हे एक वृक्ष के नीचे गाड़ दिया और केवल […]

5 thoughts on “क्या आप कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*