कैलाश कटकर | School dropout to successful entrepreneur

Kailash Katkar | School dropout to successful entrepreneur

जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए लगन, कड़ी मेहनत के साथ-ही-साथ हममें दूरदर्शिता और अवसर को पहचानने की क्षमता भी होनी चाहिए। यह story है Kailash Katkar की जो कम स्कूली शिक्षा और कम्प्यूटर टैक्नाॅलाजी के ज्ञान का अभाव होने के वावजूद एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर के क्षेत्र के बादशाह हैं।

अपनी पारिवारिक परिस्थिति और पढ़ाई में कोई खास रूचि न होने के कारण कटकर ने अपनी औपचारिक शिक्षा सन् 1985 में दसवीं कक्षा पास करने के बाद छोड़ दी। वे एक रेडियो-टी.वी. और केल्कुलेटर रिपेयर शाॅप में काम करने लगे। उनको लगता था इस तरह से वे अपने परिवार की आय बढानें में सहयोग कर सकते हैं। उन्होने वहां रेडियो, केल्कुलेटर और आॅफिसों में इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रिकल सामानों रिपेयरिंग का काम सीखा तथा साथ-ही-साथ दुकान में पैसों का हिसाब-किताब रखना भी उन्हे आ गया था।

सन् 1990 में उन्होंने (Kailash Katkar) किराये में दुकान लेकर सामान रिपेयर का काम खोला और खुद के व्यवसाय के क्षेत्र में पहला कदम रखा।

उस समय कम्प्यूटर के काम में तेजी आने लगी थी। अतः वे शाम को दुकान बंद करने के बाद कम्प्यूटर की क्लाॅस मे जाने लगे। यह काम अच्छी तरह सीखने के बाद उन्होंने कम्प्यूटर एनुअन मेंटिनेंस (AMC) का काम लेना शुरू कर दिया। शुरू में कई परेशानियों के वावजूद उनका काम कुछ तेजी पकड़ने लगा था।

उस समय कम्प्यूटर में वायरस की काफी समस्या रहती थी। उनका छोटा भाई जो कि कम्प्यूटर इंजीनियरिंक की पढाई पूरी कर चुका था, की मदद से Quickheal नामक software बनाया। उन्होने दुकानदारों में इस software को बेचने का प्रयास किया लेकिन कोई भी इसे लेने को तैयार नहीं था। उन्होनें इस antivirus को AMC के साथ मुफ्त ही देना शुरू कर दिया।

उसी समय एक कम्प्यूटर वायरस आया जिसको उस समय की अंतर्राष्ट्रीय एंटीवायरस साफ्टवेयर भी हटा नहीं पाती थी। उनका साॅफ्टवेयर उसको आसानी ने हटा देता था। यहीं से उनका यह साॅफ्टवेयर काफी महसूर हो गया तथा उनके काम में तेजी आने लगी।

व्यवसाय में कुछ उतार-चढ़ाव के बाद आज Kailash Katkar का यह साफ्टवेयर विश्व में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले एंटी-वायरस में से एक है और उनकी कम्पनी करोड़ों रूपये टर्नआवर में पहुंच चुकी है।

Also Read : लौरा वार्ड ओंगले success story


आपको कैलाश कटकर School dropout to successful entrepreneur motivational story कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि  Hindi में कोई article, inspirational story, essay  है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • चाय चाय और हमारा स्वास्थ्य

    चाय और हमारा स्वास्थ्य Impact of Tea in our Health क्या आप जानते हैं कि 200 वर्ष पहले भारतीय घरों में चाय नहीं होती थी। परन्तु आज यह हमारे देश की सभ्यता का आवश्यक अंग बन गई है। घर आये मेहमान का स्वागत बिना चाय के अधूरा सा लगता है। इससे अधिकांश लोगों को इतना अधिक लगाव है, वे सम्भवतः […]

  • इन्द्राणी शची और नहुष का घमण्ड इन्द्राणी शची और नहुष का घमण्ड

    इन्द्राणी शची और नहुष का घमण्ड इन्द्र की पत्नी शची का जन्म दानवकुल में हुआ था। उनके पिता का नाम पुलोमा था। बचपन में शची ने भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए भारी तपस्या की थी और उन्हीं के वरदान से वे देवराज की प्रियतम पत्नी तथा स्वर्ग लोक की रानी हुई। वृत्रासुर त्वष्टा ऋषि का यज्ञ-पुत्र था। देवराज […]

  • harish chandra Indian Great Scientist in Hindi हरीश चंद्र | Indian Great Scientist in Hindi

    हरीश चंद्र | Indian Great Scientist in Hindi डा. हरीश चंद्र (Dr. Harish Chandra) समकालीन पीढ़ी के अद्वितीय गणितज्ञों (Greatest Mathematician) में से एक थे। उन्होने अनंत आयामी समूह प्रतिनिधित्व  के सिद्धान्त (Representation Theory) को अपने शोध के द्वारा गणित और फिजिक्स के महत्वपूर्ण शाखा में विकसित किया। उनका जन्म 11 अक्टूबर 1923 में कानपुर में हुआ था। माता जी […]

  • Henry IV France सभ्यता और शिष्टाचार

    सभ्यता और शिष्टाचार, a very short inspirational story of King Henry IV of France एक बार फ्रांस के राजा हेनरी चतुर्थ (13 December 1553 – 14 May 1610) अपने अंगरक्षक के साथ पेरिस की आम सड़क पर जा रहे थे कि एक भिखारी ने अपने सिर का हैट उतार कर उन्हें अभिवादन किया। प्रत्युत्तर में हेनरी ने भी अपना सिर झुकाया। यह […]

4 thoughts on “कैलाश कटकर | School dropout to successful entrepreneur

  1. मैने आपका ब्लॉग “Bloggers Recognition Award” के लिए नामांकित किया है। जिसका लिंक इस प्रकार है “http://www.jyotidehliwal.com/2017/02/bloggers-recognition-award-for-aapki.html”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

2 × five =