बिस्कुट चोर Short stories in Hindi

बिस्कुट चोर Short stories in Hindi

एक महिला रात को बस अड्डे में अपने गाड़ी का इंतजार कर रही थी। उसकी गाड़ी आने में अभी घंटे से भी ज्यादा समय बाकी था। अपना समय बिताने के लिए उसने स्टाल से किताब और बिस्कुट का एक पैकेट खरीदा और एक खाली सीट देखकर वहां बैठ गई।

जब वह किताब पढ़ने मे तल्लीन थी तो एक आदमी उसकी बगल में बैठ गया। न जाने कब उसने महिला के बेग से बिस्कुट (Biscuit) निकाले और खाने लगा।

बिस्कुट चोर short story hindi

उसने महिला को बिस्कुट (Biscuit) खाने को पूछा। इससे महिला को चिड़ मच गयी। उसने पूरा पेकैट उस आदमी के हाथ से अपने पास ले लिया। अब वह जितनी बार बिस्कुट लेती, वह आदमी भी एक मांग लेता, आखिर में जब एक बिस्कुट बच गया, वह सोचने लगी कि देखो अब यह आदमी क्या करता है।

वह अपने चेहरे में हल्की सी मुस्कुराहट लाता है और आखिरी बिस्कुट भी उठा लेता है और उसके दो टुकड़े करता है। वह आधा बिस्कुट महिला को देता है।

महिला मन नही मन बहुत चिढ़ गयी और विचारने लगी कि यदि मैं इतनी शरीफ न होती तो इस आदमी की अभी तक आंखें फोड़ चुकी होती। है भगवान…. यह कितना बेसरम आदमी है जिसमें थोड़ी सी भी सभ्यता (etiquette)  का नाम नहीं है।

महिला का वहां बैठे-बैठे दम घुटने लगा था। अब जैसे ही गाड़ी आयी, उसने तसल्ली की सांस ली। अपना सारा सामान इकट्ठा किया, गुस्से से बिस्कुट चोर की तरफ देखा और पांव पटकती हुई बस में सवार हो गयी।

बस के थोड़ी दूर जाने पर वह अपनी पूरी किताब पढ़ चुकी थी। वह किताब को बैग में रखने लगी। उसकी आंखे खुली की खुली रह गयी जब उसने देखा कि बिस्कुट (Biscuit) का पैकेट वैसे के वैसे ही रखा हुआ था।

यदि यह मेरा पेकेट है…… इसका मतलब है कि वह पेकेट उस आदमी का था और वह अपने बिस्कुट उसके साथ सेयर कर रहा था। महिला को अब अपनी करनी पर बहुत अफसोस होने लगा था, लेकिन काफी देर हो चुकी थी। उसे ग्लानी महसूस हो रही था कि निर्दयी और बिस्कुट (biscuit) चोर तो वह स्वंय है, न कि वह आदमी।

Also Read : प्यार की डोर – Heart-touching short stories


आपको यह story  बिस्कुट चोर  Short stories in Hindi कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि  Hindi में कोई short stories, essay  है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • गलत मान्यतायों का तिरस्कार हो

    गलत मान्यतायों का तिरस्कार हो कई पुरानी मान्यतायें हमें जीवन से, मूल सिद्वांत से भ्रमित कर देती हैं या हमारे भाग्य में पाप अनजाने में बढा़ देती हैं। दहेज भी ऐसी एक मान्यता रही जो कि अब काफी हद तक कम हो गई है। इस मान्यता की वजह से गरीब घर की कई लड़कियां तो पूरी जिन्दगी कुंवारी ही रह […]

  • anna mani अन्ना मणि | Mahan Mahila Scientist in Hindi

    अन्ना मणि | Mahan Mahila Scientist in Hindi महान भारतीय वैज्ञानिक अन्ना मणि (ANNA MANI) की सफलता की कहानी पुरुषों और महिलाओं (ladies) को बराबर प्रेरित करती है। उनके समय लिंग के आधार पर होने वाले भेदभाव का उन्होने सफलतापूर्वक सामना किया। एक इंटरव्यू में उन्होने बताया था कि कैसे छोटी-छोटी गलतियों पर भी महिलाओं को असक्षम सिद्ध करने का […]

  • संस्कार

    संस्कार Our Traditional Ethics in Hindi हमारे जीवन में हजारों पुराने व नये संस्कार (Traditional Ethics) होते हैं। जो बनते और समाप्त होते हैं। हर व्यक्ति के अपने-अपने संस्कार होते हैं। कुछ संस्कार अन्तिम समय तक हमारे साथ ही चलते हैं और कुछ अगले जन्म तक साथ आत्मा के साथ जाते हैं। संस्कारों की जीवन में भूमिका संस्कारों (Traditional ethics) की […]

  • arjun राजकुमार सुधन्वा और अर्जुन (Sudhanva and Arjun War)

    राजकुमार सुधन्वा और अर्जुन Story of war between Rajkumar Sudhanva and Arjun in Hindi राजकुमार सुधन्वा (Sudhanva) चम्पकपुर के नरेश हंसध्वज का छोटा पुत्र था। वह जितना महान शूरवीर था, उतना ही महान ईश्वर भक्त भी था। महाभारत युद्ध के पश्चात धर्मराज युधिष्ठिर ने अश्वमेघ यज्ञ किया। घोड़े के पीछे अर्जुन के नेतृत्व में सेना विजय-यात्रा कर रही थी। किसी भी राजा का […]

6 thoughts on “बिस्कुट चोर Short stories in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*