सभ्यता की कसौटी

सभ्यता की कसौटी criteria of civilization, motivational sort story of Swami Vivekananda in Hindi

स्वामी विवेकानन्द जब अमेरिका गये थे तो एक दिन वे गेरुए वस्त्र में एक सड़क से गुजर रहे थे। लोगों को उनके वस्त्र बड़े अजीब लगे। वे लोग उनके पीछे-पीछे चलने एवं हँसी-मजाक बनाने लगे। शायद उन लोगों ने सोचा होगा कि यह कोई मूर्ख है।

जब काफी भीड़ इकट्ठी हो गयी, तो स्वामी जी पीछे मुड़कर भीड़ की ओर देखकर बोले–‘Dear Sirs आपके यहाँ सभ्यता की कसौटी पोशाक है, पर हमारे देश में मनुष्य की पहचान उसके वस्त्रों से नहीं, चरित्र से होती है।’

स्वामी जी का इतना कहना था कि भीड़ लज्जित होकर धीरे-धीरे बिखर गयी।


आपको यह कहानी सभ्यता की कसौटी criteria of civilization, motivational sort story of Swami Vivekananda in Hindi   कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई article, story, essay, poem है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • G N Ramachandran Our Scientist in Hindi जी.एन. रामचन्द्रन | Our Scientist in Hindi

    जी.एन. रामचन्द्रन | Our Scientist in Hindi गोपालसमुन्द्रम नारायणा रामचन्द्रन (Gopalasamudram Narayana Iyer Ramachandran popularly known as G.N. Ramachandran) उन गिनचुने India’s Great Scientists में से एक हैं जिन्होंने अपने अनुसंधानों से देश का मान ऊँचा किया। उनके पास पश्चिमी देशों से अनुसंधान के लिए कई आर्कषक आॅफर थे, परन्तु अपने गुरू सी.वी. रमण के समान ही, उन्होंने अनगिनत विपरीत […]

  • negativity क्या नकारात्मक लोगों से दूर रहना चाहिए

    क्या नकारात्मक लोगों से दूर रहना चाहिए Should we stay away from negative people in Hindi हम सब के मन में कई सवाल उमड़ते रहते हैं। negative people कौन होते हैं? क्या हमें negative persons से दूर रहना चाहिए? हम negativity को जीवन से कैसे दूर करें? हम negative thoughts से कैसे निजाद पायें? क्या negativity वास्तव में progress के लिए हानिकारक […]

  • श्रीहनुमान का चातुर्य

    श्रीहनुमान का चातुर्य A short story on Sri Hanuman Intelligence in Hindi मित्रों, ऐसी हिन्दी पौराणिक कथा प्रचलित है कि एक समय कपिवर हनुमान जी की प्रशंसा के आनन्द में मग्न श्रीराम ने सीताजी से कहा-‘देवी! लंका विजय में यदि हनुमान का सहयोग न मिलता तो आज भी मैं सीता वियोगी ही बना रहता।’ सीताजी ने कहा-‘आप बार-बार हनुमान की प्रशंसा […]

  • tiger and rabbit मोरल स्टोरी बाघ और खरगोश

    बाघ और खरगोश – Moral Story in Hindi Tiger and Rabbit  यह मोरल स्टोरी (moral story) बाघ (tiger) और खरगोश (rabbit) की है जिसमें यह बताया गया है कि शांतचित्त मन से विकट से विकट परिस्थिति का भी सफलतापूर्वक सामना किया जा सकता है। मोरल स्टोरी इस प्रकार है कि एक समय की बात है जंगल में एक खरगोश रहता था। […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*