बहुमत का बोलबाला | Owl and Swan short story in Hindi

बहुमत का बोलबाला | Hindi Story Owl and Swan

swan and owl

यह हिंदी कहानी उल्लू और हंस की है। उल्लू (owl) एक पेड़ पर बैठा था। अचानक एक हंस (swan) भी आकर पर बैठ गया। हंस (swan) ने कहा, “उफ! कैसी गर्मी है। सूरज आज बड़े प्रचंड से चमक रहा है।”

उल्लू बोला, “सूरज! यह सूरज क्या चीज है? इस वक्त गर्मी है-यह तो ठीक है पर वह तो अंधेरा बढ़ने पर हो जाती है।”

हंस ने समझाने की कोशिश की, ‘सूरज आसमान में है। उसकी रोशनी दुनिया में फैलती है, उसी से गर्मी भी फैलती है।’

उल्लू हँसा, ‘तुमने रोशनी नाम की एक ओर चीज बतलाई। तुम्हें किसने बहका दिया है?’

हंस ने समझाने की बहुत कोशिश की, मगर बेकार।

आखिर उल्लू बोला, ‘अच्छा चलो उस वटवृक्ष तक, वहाँ मेरे सैकड़ों अकलमन्द जाति भाई रहते हैं। उनसे फैसला करा लो।’

हंस ने उल्लू की बात मान ली। जब दोनों उल्लूओं के समुदाय में पहुंचे तो उस उल्लू ने सबको सुना कर कहा, ‘यह हंस कहता है कि आसमान में इस वक्त सूरज चमक रहा है। उसकी रोशनी दुनिया में फैलती है। तमाम उल्लू हँस पड़े, क्या बाहियात बात है। भाई, न सूरज कोई चीज है, न रोशनी कोई वस्तु। इस बेवकूफ हंस के साथ तुम तो बेवकूफ न बनो।’

सब उल्लू उस हंस को मारने झपटे। गनीमत यह थी कि उस वक्त दिन था, इसलिए हंस सही-सलामत बचकर उड़ गया। उड़ते हुए उसे मन में सोचा, बहुमत सत्य को असत्य तो नहीं कर सकता लेकिन जहाँ उल्लुओं का बहुमत हो, वहाँ किसी समझददार के लिए सत्य को उसके गले उतार सकना बड़ा मुश्किल है।

इस hindi story को आज के राजनीति परिवेश में देखिए। कोई भी सीधा सादा व्यक्ति चारों तरफ उन उल्लुओं से घिरा है जो सत्य (true) को कभी भी असत्य (false) में बदल सकते हैं।

कभी आपको नहीं लगता हमारे देश की politics बिल्कुल owl और swan की story की तरह हो गई है जहां केवल बहुमल का बोलबाला है अब तो बहुमल चाले सच्चा हो चाहे झूठा।

ऐसे ही आज के नेता हैं जो जनता को बेवकूफ बना रहे हैं। बहुमत बनाने के लिए कुछ भी कर जाते हैं और उसी बहुमत के आधार पर देश की जड़ों को खोखला और जनता को भिखारी बनाते जा रहे हैं। swan की तरह उल्लुओं रूपी नेताओं से बचने के लिए जनता मारी-मारी भटक रही है। जनता की जरूरतों को पूर्ति कौन करेगा। जनता को खुद ही समझदार होना पड़ेगा।

यह सच्ची हिंदी कहानी भी पढ़ेंः भिखारी की ईमानदारी


आपको यह हिंदी कहानी बहुमत का बोलबाला | Owl and Swan short story in Hindi  कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई कहानी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • sudha chandran सुधा चन्द्रन – यह मेरे सपने हैं

    सुधा चन्द्रन – यह मेरे सपने हैं Inspirational Story of Sudha Chandran (Classical Dancer and Actor) who win the race of success without a leg in Hindi बहुत कम ऐसे लोग देखने में मिलते हैं जिनके जीवन में त्रासदी होने पर भी वे आगे बढ़ने का हौसला नहीं खोते हैं तथा सफलता (success) का उच्च मुकाम हासिल करके सबको अचंभित करते हैं। […]

  • Frank O'Dea hindi सड़कछाप से सफलता का सफर | Frank O’Dea

    सड़कछाप से सफलता का सफर | Frank O’Dea Street Life to High Life हम सबके लिए प्रेरणा के स्रोत Frank O’Dea कनाडा की सबसे बड़ी काॅफी श्रृंखला ‘सेकेंड कप’ के सह-संस्थापक आज एक सफल उद्यमी, मानवतावादी और लेखक हैं। पर वे हमेशा से ऐसे नहीं थे। वे शराब पीने के आदी, गुजारे के लिए राहगीरों से पैसे मांगते तथा आश्रयस्थल में […]

  • sadhu साधु और वेश्या। दूसरों का दोष मत देखो

    साधु और वेश्या। दूसरों का दोष मत देखो एक बहुत ही पहुँचे हुए अतिवृद्ध साधु थे। वे एक जगह नहीं रुकते थे, जहाँ मन लगा वही धूनी भी लगा ली। वे घूमते-घूमते एक नगर में पहुँचे। एक छायादार पेड़ के नीचे उन्होने अपनी धूनी जमा ली। साधु की धूनी के सामने ही एक वैश्या का निवास था। उसके घर में […]

  • Chinua Achebe आधुनिक अफ्रीकी साहित्य के जनक – Chinua Achebe

    आधुनिक अफ्रीकी साहित्य के जनक – चिनुआ अचेबे Father of Modern African Literature – Chinua Achebe Chinua Achebe वर्तमान काल के महानतम उपन्यासकारों में से एक हैं। उनकी कहानियों का विषय-वस्तु अफ्रीकी जनमानस था। उनकी पुस्तकों का रूपांतरण चालीस से भी अधिक भाषाओं में हुआ है जो कि दुनियाभर में बहुत लोकप्रिय हैं। चिनुआ अचेबे का जन्म 15 नवम्बर, 1930 […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*