लालच (Greed)

लालच (Greed) Motivational Story in Hindi

आपने वो पुरानी कथा सो सुनी होगी। एक व्यक्ति ने अपने यहां भोज का आयोजन किया, ऐसे अवसरों पर लोग आसपास से बर्तन माँग कर काम चला लेते थे। मित्रों को दावत दी। अगले दिन जब उसने सबके बर्तन लौटाए तो सभी बड़े बर्तनों के साथ उन्हीं जैसा एक-एक बर्तन भी साथ रखवा कर भिजवाए। जब बर्तन वालों ने इसकी वजह पूछी तो उसके कहा कि रात को तुम्हाने बर्तनों से बच्चे दिए, सो ये भी तो तुम्हारे ही हुए। पड़ोसी खुश। हर बर्तन के साथ मुफ्त में एक छोटा बर्तन भी मिल गया। कुछ दिनों के बाद वह व्यक्ति अपने यहाँ दावत के बहााने फिर पड़ोसियों के यहाँ गया और बर्तन उधार देने के लिए कहा। पड़ोसियों से खुशी-खुशी अपने बर्तन उसे दे दिए, उसे जितने कहे उससे भी ज्यादा बर्तन दे दिए। अगले दिन जब लोग अपने-अपने बर्तन वापसे लेने उसके घर पहुंचे, तो उसे एक खाली कमरा खोलकर दिखाते हुए कहा कि बर्तन तो बच्चा देते हुए भगवान को प्यारे हो गए। सारे बर्तन एक ही रात में चल बसे। अब मैं कहाँ से तुम्हें बर्तन दूँ?

लोग रो-पीटकर रह गए। उसकी बात झुठलाएं भी तो कैसे पहले जब उसने बर्तनों के साथ उनके पैदा हुए बच्चे दिए थे, तो किसी ने भी उसका विरोध नहीं किया था। लालच के कारण वे एक असंभव बात को भी नकार नहीं पाए थे। देर-सवेरे हर लोभ का यही परिणाम होता है। मोटे ब्याज के लालच में मूल से भी हाथ धोना पड़ता है।

इसी कहानी को आज के परिवेश में देखा जाए तो लगेगा नेता और जनता दोनों ही एक दूसरे को बेवकूफ बना रहे हैं। पहले जो नेता कहता है जनता मान लेती है वो चुन लिया जाता है फिर वो जो कहता है जनता को मानना पड़ता है। पहले बिना सोचे समझे जनता उसके झूठे वायदों को सही मानती है क्यों? उदाहरणार्थ दिल्ली में पानी और बिजली की कमी है। नेताओं ने बड़े-बड़े वायदे किये तो क्या जनता नहीं जानती की पानी कहाँ से लायेंगे, बिजली कहाँ से लायेंगे। जब कोई ऐसा जादू तो है नहीं परन्तु जनता है, वोट दिए। रिजल्ट के बाद अब कैसे कहें नेता से पानी और बिजली का प्रबन्ध करो।


आपको यह कहानी लालच (Greed) Motivational Story in Hindi कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई article, story, essay, poem है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • tea health चाय और हमारा स्वास्थ्य

    चाय और हमारा स्वास्थ्य Impact of Tea in our Health in Hindi क्या आप जानते हैं कि 200 वर्ष पहले भारतीय घरों में चाय नहीं होती थी। परन्तु आज चाय हमारे देश की सभ्यता का आवश्यक अंग बन गई है। घर आये मेहमान का स्वागत बिना चाय के अधूरा सा लगता है। जिस चाय से अधिकांश लोगों को इतना अधिक […]

  • parent mistake ज्यादा टोका-टाकी बच्चों की बरबादी – parent mistake

    क्या आप जानते हैं किसी बच्चे के उज्जवल भविष्य (future) के लिए सबसे बड़ी बाधा क्या होता है? जरा विचार कीजिए। क्या वह माँ-बाप की गरीबी (parent poverty) होती है जिसके कारण बच्चे को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाती या बहुत अमीरी (parent prosperity) होती है जिससे कि बच्चे शुरू से ही भोग-विलास में डूब कर अपना भविष्य (future) बरबाद […]

  • kadamtaal पाश्चात्य विद्वानों पर उपनिषदों का प्रभाव (Impact of Upanishads on Western scholars)

    Impact of Upanishads on Western scholars in Hindi उपनिषदों के सिद्धान्त इतने गूढ और सार्वभौम हैं कि उनका विद्वानों पर, चाहे वे किसी भी देश के निवासी और किसी भी धर्म के अनुयायी क्यों न हों, गहरा प्रभाव पड़ता है। विदेशी विद्वान उपनिषदों में बहुत से ऐसे प्रश्नों का समाधान पाकर चकित रह गये हैं, जिनका उत्तर अन्य धर्मों तथा […]

  • Frank O'Dea hindi सड़कछाप से सफलता का सफर

    सड़कछाप से सफलता का सफर Street Life to High Life – Inspirational Hindi story of Frank O’Dea हम सबके लिए प्रेरणा के स्रोत Frank O’Dea कनाडा की सबसे बड़ी काॅफी श्रृंखला ‘सेकेंड कप’ के सह-संस्थापक आज एक सफल उद्यमी, मानवतावादी और लेखक हैं। पर वे हमेशा से ऐसे नहीं थे। वे शराब पीने के आदी, गुजारे के लिए राहगीरों से पैसे […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*