हमारी अच्छी सोच-मन की खुशी एवं मन की शान्ति

हमारी अच्छी सोच-मन की खुशी एवं मन की शान्ति
Hamari aachi soch man ki khushi man ki shanti

हम अभी इस बात से अनभिज्ञ हैं कि भाग्य (luck) क्या है। हमारा luck हमारी thinking पर निर्भर करता है। बहुत महत्वपूर्ण है हमारी अन्दर चल रहे विचारों की और मन की बात। उन विचारों को समझना, गलत विचारों को रोकना है और अच्छे विचारों को ही स्थान देना है। किसी के द्वारा हमारे साथ किए गए गलत व्यवहार के लिए, हमारे मन में बदले या नफरत के, द्वेष इत्यादि के उठे विचारों को तुरन्त रोक कर, अपने विचारों में दूसरे के प्रति क्षमा भाव जागृत करना है।

हमारे विचारों में सत्य (truth) को प्राथमिकता दी जानी चाहिए। सत्य ही ईश्वर है। स्वार्थ, द्वेष, नफरत, दुश्मनी, अंहकार, क्रोध, ईष्र्या, बाहरी जगत की जरूरतों की अत्याधिक लालसा इत्यादि वाले विचारों से दूरी बनाने का प्रयास करना है।

man ki shanti

हमें यह जान लेना है कि विचार मैं ही बनाता हूँ और मैं ही उन विचारों को समाप्त कर सकता हूँ। दूसरे क्या सोचते हैं इसकी चिन्ता मुझे नहीं करनी है। मुझे अपने पर ध्यान देना है। मेरी सोच / मेरे संस्कार / मेरी आदतें मेरे विचारों द्वारा निर्मित होते हैं। मैं ही इन्हें नियंत्रित कर सकता हूँ। मेरी आदतें/मेरे संस्कार ही मेरे व्यक्त्वि का आधार हैं।

मेरी सोच के द्वारा किए गए कार्य के फलस्वरूप मेरा luck बनता है। मैं गलत सोच के कार्य करूंगा तो मेरा भाग्य भी अंधकारमय हो जाएगा। परनिंदा से बचना है। बहस से बचना है। बहस से अंहकार उत्पन्न होता है। बीती बातों को याद करना, अपने सुखे धावों को कुरेदने के समान है। हमारे विचार बाहरी जगत की सूचनाओं, परिथितियों एवं मान्यताओं पर केन्द्रित होते हैं। दूसरे क्या सोचते हैं इसकी चिंता मत करो मैं क्या सोचता हूँ वही महत्वपूर्ण है।

मन की खुशी क्या है। खुशी मेरे अन्दर है उसे मुझे किसी से लेने या खरीदने कहीं जाना नहीं पड़ता। हमारी कोई जरूरत पूरी होती है तब मन प्रसन्न हो जाता है। मन की खुशी कार्य की सम्पन्नता से भी होती है। हमारा मन हमेशा प्रसन्न जब ही रह सकता है जब हमारे विचार/हमारी सोच एक सही दिशा में ही कार्यवान्वित हो रहे हो।

अच्छी सोच-अच्छे कर्म-अच्छा भाग्य यही सिद्वान्त है, जो सृष्टि के कार्यों के संचालन में मदद करता है। हमारी सोच/मान्यताओं के आधार पर हमारे जीवन के अधिकांश फैसले निर्भर होते हैं।

Also Read :भूल सुधार एवं क्षमा करना


आपको यह motivational article Hamari aachi soch man ki khushi man ki shanti  कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई motivational article, story, essay है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • chanakya दीपक का तेल | Chanakya story

    दीपक का तेल | Chanakya Story in Hindi मित्रों  चाणक्य (Chanakya) के काल में भारत में घरों में ताला नहीं लगाया जाता था। उसी समय चीनी ह्नेनसाँग ने भारत की यात्रा की थी। उसकी यात्रा के एक प्रेरणाप्रद प्रसंग (inspirational instance) की चर्चा कुछ विद्वानों ने की है। यह प्रसंग कुछ इस प्रकार है – जब ह्नेनसाँग भारत आया, उस […]

  • यात्रा यात्रा (Tour)

    Essay on यात्रा (Tour and Travelling) in Hindi यात्रा (Tour and travelling) विषय पर चोैकिए मत, मैने तो ऐसे ही बात छेड़ दी। मुझे लगा आप लोग सफर की तैयारी कर रहे हैं, कहीं आपको कुछ लाभ ही मिल जाए। यात्रा (Tour and travelling), कितना छोटा सा शब्द है जिसमें छिपा है एक परिवर्ततन, जिज्ञासा, इच्छा, जानकारी, आत्मिक संतुष्टि, मिलन […]

  • कैलाश कटकर कैलाश कटकर School dropout to successful entrepreneur

    कैलाश कटकर School dropout to successful entrepreneur motivational story जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए लगन, कड़ी मेहनत के साथ-ही-साथ हममें दूरदर्शिता और अवसर को पहचानने की क्षमता भी होनी चाहिए। यह story है कैलाश कटकर (Kailash Katkar) की जो कम स्कूली शिक्षा और कम्प्यूटर टैक्नाॅलाजी के ज्ञान का अभाव होने के वावजूद एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर के क्षेत्र के बादशाह […]

  • raja shibi राजा शिवि का परोपकार

    राजा शिवि का परोपकार Raja Shibi Ka Paropkar in Hindi पुरुवंशी नरेश शिवि उशीनगर देश के राजा थे। वे बड़े दयालु-परोपकारी शरण में आने वालो की रक्षा करने वाले एक धर्मात्मा राजा थे। इसके यहाँ से कोई पीड़ित, निराश नहीं लौटता था। इनकी सम्पत्ति परोपकार के लिए थी। इनकी भगवान से एकमात्र कामना थी कि मैं दुःख से पीड़ित प्राणियों […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*