यात्रा (Tour)

यात्रा (Tour) विषय पर चोैकिए मत, मैने तो ऐसे ही बात छेड़ दी। मुझे लगा आप लोग सफर की तैयारी कर रहे हैं, कहीं आपको कुछ लाभ ही मिल जाए। यात्रा (Tour), कितना छोटा सा शब्द है जिसमें छिपा है एक परिवर्ततन, जिज्ञासा, इच्छा, जानकारी, आत्मिक संतुष्टि, मिलन और पुण्य प्राप्ति-ऐसे अनेक लाभ-यात्रा शब्द में सम्मिलित हैं।

होटल में ठहरने के लिए, पूर्व जानकारी ले लें और हो सके तो अग्रिम बुकिंग करा कर ही जायें। जहां ठहरना हैं, उस होटल के कम से कम दो फोन नम्बर जरूर साथ रखें। अपने सामान की स्वयं देखभाल करें। सामान उतना ही ले चले जो बहुत जरूरी हो। जहां आप ठहरेंगे उन होटलों के टेलिफोन नम्बर भी घर पर बता कर जायें।

यदि आप ठंडी जगह जा रहे हैं तो होटल में बिस्तर की व्यवस्था तो होती ही है परन्तु गर्म कपड़े उतने जरूर रख लें जो आप संभाल सकें।

अपने स्वास्थ्य से सम्बन्धित दवाइयों का डिब्बा जरूर साथ रखें। घूमते-घूमते सफ़र में यदि आपका स्वास्थ्य गवाही न दे तो कमरे में ही रूक जायें, लालच में न पड़ें।

जिस समय होटल के रूम से घूमने को निकलें तो गीजर का बटन एवं रूम की लाइट इत्यादि बन्द कर दें। यदि बाहर से मच्छरों की सम्भावना हो तो खिड़की भी बन्द कर दें।

सहयात्रियों के मोबइल नम्बर जरूर नोट करके साथ रख लें। जहा भी जायें, जिस गु्रप में जाऐं, ऐसा जरूर कर लें कि एक मोबाइल फोन आप लोगों में से किसी के पास जरूर हो। पर ये क्या आपने बात तो अमल की परन्तु अधूरी, आपने रात में मोबाइल तो चार्ज ही नहीं किया। अब तो यह किस काम का, परन्तु घबराइये नहीं, पास की STD/ISD दुकान से फोन मिलाइये और अपने साथियों को अपनी जानकारी दे दीजिए।

एक छोटा टार्च, एक छतरी ले जाना न भूलें। जहां आप जा रहे हैं, यदि लौटने में रात हो गई और होटल की लाइट चली गई या बाजार में रात को लाइट चली गई तो क्या करेंगे

एक दो दिन के अन्तराल के बाद घर पर फोन करके, अपने परिवार की खैर-खबर लेना न भूलें।

कभी-कभी ड्राइवर का स्वभाव हमारे अनुकूल नहीं होता है या होटल मैनेजर या अन्य कोई भी, हम अपने शहर से बाहर हैं, ऐसे में हमें संयम रखना ही है परन्तु सभी का मन ठीक रहे, इसलिए कभी-कभी जहर को भी पीना जरूरी हो जाता है। यात्रा प्रबन्ध में आने वाली बाधाओं से घबरा कर काम नहीं चलने वाला है।

जब भी कमरे को खाली करना हो, सामान निकाल लेने के बाद भी, एक बार जरूर, तकिए के नीचे या बाथरूम में झांक लें शायद आपकी अंगूठी या घड़ी छूट गई हो। आपके नुकसान से आपका मन थोड़ा सा खिन्न हो जाएगा, यदि आप सावधानी रखें तो तनाव मुक्त एवं प्रसन्नता के साथ यात्रा (Tour) हो सकती है।

Random Posts

  • हमारी अच्छी सोच-मन की खुशी एवं मन की शान्ति

    हम अभी इस बात से अनभिज्ञ हैं कि भाग्य क्या है। हमारा भाग्य हमारी सोच पर निर्भर करता है। बहुत महत्वपूर्ण है हमारी अन्दर चल रहे विचारों की और मन की बात। उन विचारों को समझना, गलत विचारों को रोकना है और अच्छे विचारों को ही स्थान देना है। किसी के द्वारा हमारे साथ किए गए गलत व्यवहार के लिए, […]

  • story of ram in the world in hindi विदेशों में राम-कथा (Story of Ram in the World)

    Story of Ram in the World in Hindi राम-कथा भारत की ही नहीं, विश्व की सम्पत्ति है। वह संस्कृृत भाषा में रची गई, फिर भारत की अन्य भाषाओं में उसका अनुवाद हुआ और उसके साथ-साथ अन्य देशों की भाषाओं में भी उसका ट्रान्सलेशन (translation) व कुछ परिवर्तित (some changes) रूप में पहुंची। यह जहां भी गई जनमानस केे दिल में छूते […]

  • जीवन की सार्थकता दूसरों के लिए जीने में है

    एक बार एक राजा ने राजमार्ग पर एक विशाल पत्थर रखवा दिया। फिर वह छिपकर बैठ गया, यह देखने के लिए कि कोई उसे उठाता है या नहीं। मार्ग में पड़े उस पत्थर उस मार्ग से निकलने वाले, कई धनी सेठों ने, दरबारियों ने भी देखा परन्तु राजमार्ग को बाधारहित करने के लिए, किसी ने भी कुछ नहीं किया, सब […]

  • hero alom हीरो अलोम – इच्छाशक्ति की जीत

    हम अपने आसपास कई बार बहुत ही साधारण व्यक्तित्व, आर्थिक रूप से कमजोर, पारिवारिक परेशानी से जूझने वाले और अल्प शिक्षा प्राप्त लोगों को देखते हैं जो कि विपरीत परिस्थितयों के बावजूद अपनी मेहनत, दृढ इच्छाशक्ति से सफलता का मुकाम हासिल करके सबको अचंभित करते है। ऐसे लोग हम सब के लिए प्रेरणा के स्त्रोत होते हैं। यहां हम बात […]

  • nain singh rawat नैन सिंह रावत – जिन्होंने तिब्बत को अपने कदमों ने नापा

    नैन सिंह रावत (Nain Singh Rawat) का जन्म 21 अक्टूबर 1830 में पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी तहसील स्थित उत्तराखंड के सुदूरवर्ती मिलम गांव में हुआ था। उनके पिताजी का नाम अमर सिंह था जिन्हें कि लोग लाटा बुढ्ढा के नाम से भी पुकारते थे। पहाड में लाटा अत्यधिक सीधे इन्सान अथवा भोले लोगों को मजाक में कहते हैं। उनकी प्रारभिक […]

  • motivational story of chanakya in Hindi दीपक का तेल (Lamp oil)

    दीपक का तेल (Lamp oil) Motivational story of Chanakya in Hindi मित्रों  चाणक्य के काल में भारत में घरों में ताला नहीं लगाया जाता था। उसी समय चीनी ह्नेनसाँग ने भारत की यात्रा की थी। उसकी यात्रा के एक प्रेरणाप्रद प्रसंग की चर्चा कुछ विद्वानों ने की है। यह प्रसंग कुछ इस प्रकार है – जब ह्नेनसाँग भारत आया, उस […]

  • jokar अपने आपको जोकर न बनायें

    आप सबको खुश नहीं रख सकते You cannot make everyone happy मित्रों कभी न कभी तो आप सर्कस गये ही होंगे। वहां लोगों को हंसाने-गुदगुदाने के लिए एक पात्र आता है-जिसे जोकर (joker) कहते हैं। जो अपने चेहरे को अजीब से रंगो और मुखेटे से ढके रहता है। मुझे लगता है जोकर ही वह किरदार है जिसमें हर किसी को […]

  • Henry IV France सभ्यता और शिष्टाचार

    सभ्यता और शिष्टाचार (Culture and etiquette), a very short inspirational story of King Henry IV of France एक बार फ्रांस के राजा हेनरी चतुर्थ (13 December 1553 – 14 May 1610) अपने अंगरक्षक के साथ पेरिस की आम सड़क पर जा रहे थे कि एक भिखारी ने अपने सिर का हैट उतार कर उन्हें अभिवादन किया। प्रत्युत्तर में हेनरी ने भी अपना […]

  • evolution allopathy आधुनिक चिकित्सा पद्धति (Allopathy) का विकासक्रम

    आधुनिक चिकित्सा पद्धति का विकासक्रम Evolution / History of Modern Medical Practices (Allopathy) in Hindi पुरातनकालीन भित्तिका-चित्रों और गुफाओं की अनुकृतियों के आधार पर इस बात की पुष्टि होती है कि उस समय मनुष्य को शरीर-रचना और विकृत अंगों का पूरा ज्ञान था। मनुष्यों और पशुओं के प्रजनन सम्बन्धी रोगों के चित्र भी इन गुफाओं में मिलते हैं। मिर्जापुर किले […]

  • water is medicine पानी भी एक दवा है – इसके चमत्कार देखें

    पानी भी एक दवा है – इसके चमत्कार देखें Water is also a medicine – see its miracles in Hindi 1979 में जब अयातुल्लाह ने शाह से ईरान में सत्ता हथिया ली तब एक ईरानी डाक्टर फेरदून बटमंगहिलीज Fereydoon Batmanghelidj (1930 or 1931 – November 15, 2004) को अन्य बुद्धिजीवियों के साथ तेहरान के बदनाम जेल में डाल दिया गया। एक रात […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*