भूल सुधार एवं क्षमा करना

भूल सुधार एवं क्षमा करना
Apology and Forgiveness in Hindi

mafi

यदि हमें यह आभास हो गया कि संस्कार ही इस जीवन धारा के मूल में विराजमान हैं तो हम अपनी जीवन शैली को बदलने का प्रयास कर सकते हैं। जैसे हमारी पुरानी मान्यताओं/अनुभवों/संस्कारों के कारण जिस किसी से भी हमारे संबन्धों में दरार पड़ गई है। उस दरार को भरने का प्रयास कर सकते हैं। जो भी गलतियाँ हमारी गलत सोच के कारण हुई उन्हें सुधार सकते हैं।

हमारी सोच के द्वारा हुए कार्य के फलस्वरूप हमारा भाग्य बन रहा है।

अतः जो कुछ भी हम अपने भाग्य के सुधार के लिए कर सकते हैं, उसके लिए प्रयास आरम्भ कर देने चाहिए। मन में कुंठा के, द्वेष के, घृणा के विचार इत्यादि ऐसे निम्न स्तर के विचार जो परिपक्य होकर हमारी आदत/संस्कार बन गए हैं। जिससे हमारा व्यक्तित्व ही जो होना चाहिए था उसकी बजाए कुछ और ही दिखता है। जैसे ही हम इस निर्णय पर पहुँचे, तो इस जीवन में अब तक हम से जो गलतियाँ/भूल हुई हैं। क्या हमें उनके सुधार के लिए कुछ नहीं करना चाहिए।

हमसे कितनीगलतियाँ/भूल तो जाने-अनजाने में हो ही जाती हैं।

कुछ हमारी पुरानी मान्यतायें, पुराने अनुभव, हमारी आदतों के कारण, हमने किसी का नुकसान या अहित किया है या हुआ है। हमें आगे बढ़कर उन भूलों का प्रायश्चित (apology) करना चाहिए। इसके साथ-साथ किसी दूसरे की गलती को क्षमा (forgive) कर देना चाहिए जिससे हमारे मन में चल रहा द्वंद्व समाप्त हो जाए। इससे एक नई परिपाटी तैयार हो जाएगी और समाज एवं संसार में अधिकांशतः अनजानी भूलों में सुधार की प्रक्रिया आरम्भ होने से हमारा वर्तमान एवं भविष्य दोनों में ही सुधार हो पाएगा। हम अगर आयु में भी सीनियर सिटिजन हो गए हैं तो हम अपने परिवार के अन्य सदस्यों की सोच को भी धीरे-धीरे बदल सकते हैं। यह एक धीमी गति की प्रक्रिया है जो केवल जिज्ञासु पर ही असर कर सकती है।

Also Read : सफलता कैसे! Five Motivational Story in Hindi 


आपको यह essay भूल सुधार एवं क्षमा करना Apology and Forgiveness in Hindi कैसी लगी, कृप्या कमेंट बाक्स पर साझा करें।

आपके पास यदि Hindi में कोई motivational article, story, essay है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ kadamtaal@gmail.com पर E-mail करें. हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे|

Random Posts

  • short story of birds कलह से हानि होती है Hindi Moral Story of Two Birds

    कलह से हानि होती है Hind Moral Story of Two Birds प्राचीन काल की बात है, किसी जंगल में एक व्याध रहता था। वह पक्षियों (birds) को जाल में फँसाकर अपनी आजीविका चलाता था। उसी जंगल में दो पक्षी (two birds) भी रहते थे। जो आपस में मित्र थे। सदा साथ-साथ रहते, साथ-साथ उड़ते और रात्रि में एक ही वृक्ष में […]

  • sarab ke labh अति शराब के लाभ – युक्ति से गुरुजी की सीख

    अति शराब के लाभ – युक्ति से गुरुजी की सीख एक समय की बात है पंजाब के एक खुशहाल सूबे में छोटा सा गाँव था-टुन्नपुर। उसका जमीदार काफी सम्पन्न था। बड़ी हवेली, खेत-खलिहान और गाय-भैंसों की कोई कमी नहीं थी। उसे अपना समय को बिताने के लिए रोज़ शाम को मित्रों के साथ बैठकर शराब पीने की लत लग गयी। […]

  • फ़्लोरेन्स नाइटिंगेल फ़्लोरेन्स नाइटिंगेल | सेवा की प्रतिमूर्ति

    फ़्लोरेन्स नाइटिंगेल | सेवा की प्रतिमूर्ति फ़्लोरेन्स नाइटिंगेल (Florence Nightingale) का जन्म 12 मई सन् 1820 ई. में इटली के शहर फ्लाॅरेन्स में एक ब्रिटिश परिवार में हुआ था। वह उच्च घराने की लड़की थी। परिवार में पैसों की कोई कमी नहीं थी पर फ्लाॅरेन्स का जन्म ही दीन दुखियों की सेवा के लिए ही हुआ था। अतः उनका मन […]

  • bhikari भिखारी की ईमानदारी | Inspirational Hindi Story of Beggar

    भिखारी की ईमानदारी | Real-life Inspirational Hindi Story of Beggar  यह हमें अचम्भित करने वाली एक ईमानदार भिखारी (honest beggar) की गजब की सच्ची कहानी है जो कि हम सबको सच्चाई और ईमानदारी की सीख देती है।  बात कुछ समय पहले की है,  हमारे दरवाजे पर एक लंगड़ा भिखारी (beggar) आने लगा था। शुरू में हम उसे कभी पैसे, कभी आटा […]

One thought on “भूल सुधार एवं क्षमा करना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

3 × one =